REET 2022: 20 हजार नए शिक्षकों की भर्ती के लिए रीट 2022 तारीखें जारी, सीएम गहलोत ने दी ये सूचना

 REET 2022 Exam Date: राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा 2022 की तारीख जारी। रीट एग्जाम मई 2022 में आयोजित किए जाएंगे। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने राज्य में शिक्षकों की भर्ती के लिए राजस्थान एलिजिबिलटी एग्जामिनेशन टीचर (रीट) आयोजित करने की घोषणा की है। गहलोत ने 14 और 15 मई, 2022 को रीट परीक्षा कराने की घोषणा की है।

इस परीक्षा अभियान के माध्यम से राजस्थान में 20,000 नए शिक्षकों की भर्ती की जाएगी। सीएम ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर परीक्षा तारीख शेयर की। गहलोत ने कहा कि प्रदेश में युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने तथा रिक्त पदों को भरने के लिए राज्य सरकार निरंतर फैसले ले रही है। उन्होंने ट्वीट में लिखा गया है, 'वर्ष 2022 में 14-15 मई को आरईईटी परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया गया है, ताकि राज्य को लगभग 20,000 नए शिक्षक मिल सकें। इस भर्ती में विशेष शिक्षकों के लिए भी प्रावधान किया जाएगा। इससे युवाओं को रोजगार के नए अवसर मिलेंगे।"

ये भी पढ़ें: Indian Army Jobs: 10वीं, 12वीं पास के लिए भारतीय सेना में निकली भर्ती, 63000 रुपये तक वेतन

हाल ही में 31 हजार पदों पर भर्ती के लिए रीट परीक्षा का आयोजन किया गया था। इसी क्रम में अगले साल शिक्षकों के 20 हजार पदों पर भर्ती के लिए रीट परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। सीएम गहलोत ने निर्देश दिए कि पैराटीचर्स, शिक्षाकर्मी, मदरसा पैराटीचर्स एवं पंचायत सहायकों की समस्याओं का समाधान उच्चतम न्यायालय के फैसलों को ध्यान में रखते हुए करने के लिए समयबद्ध रूप से कार्य योजना बनाई जाए।

इस साल, आरईईटी का परिणाम नवंबर 2021 में घोषित किया गया था। अजमेर के अजय वैष्णव बैरागी और उदयपुर के गोविंद सोनी ने लेवल 1 की परीक्षा में टॉप किया था और श्रीगंगानगर के कीरत सिंह, बीकानेर के सुरभि पारिख और राजसमंद के निबारम ने लेवल 2 परीक्षा में पहला स्थान हासिल किया था।

ये भी पढ़ें: Sarkari Naukri: यहां कॉन्स्टेबल और फायरमैन पदों पर निकली 1521 वैकेंसी, 12वीं पास कर सकते हैं अप्लाई

दूसरी ओर, इससे पहले दिन में नियमितीकरण की मांग को लेकर पिछले कई दिनों से जयपुर के शहीद स्मारक पर धरना दे रहे पैराटीचर्स ने अपनी मांगों को लेकर दबाव बनाने के लिए दिल्ली का रूख करने की कोशिश की। आंदोलनकारी पैरा टीचर्स को रोकने के लिये पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया और उन्हें धरना स्थल की ओर धकेल दिया। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आंदोलित पैराटीचर्स सड़क पर लेटकर लुढकते हुए जाना चाहते थे। पुलिस ने उन्हें इसकी अनुमति नहीं दी। एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि नियमितीकरण की उनकी मांग को राज्य सरकार ने नजर अंदाज कर दिया है इसलिये उन्होंने दिल्ली में कांग्रेस कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ